आज देशभर में श्रमिक संगठन रहेंगे हडताल पर ,कहीं ट्रेन तो कहीं बस सेवा हुई बाधित

0
11
आज देशभर में श्रमिक संगठन रहेंगे हडताल पर ,कहीं ट्रेन तो कहीं बस सेवा हुई बाधित

नई दिल्ली| ट्रेड यूनियंस आज से दो दिन तक देशव्यापी हड़ताल पर रहेंगे, इस हड़ताल में करोड़ों लोगों के शामिल होने की उम्मीद बताई जा रही है| इनका कहना है कि सरकार की नीति जनविरोधी और श्रमिक विरोधी है| सुबह से ही देश के अलग-अलग हिस्सों में हड़ताल का असर दिखने लगा है| जिसका मिला-जुला असर देखा जा रहा है| कहीं ट्रेन तो कहीं बस सेवा प्रभावित हो रही है| बैंक कर्मियों की हड़ताल के कारन आज बैंकिंग सेवा भी ठप रह सकती है| सुबह से ही मुंबई में बेस्ट बस सड़कों पर नहीं दिख रही है|बस स्टॉप पर लोगों को इंतजार करते देखा जा रहा है| बेस्ट बस के कर्मचारियों का कहना है कि पिछले डेढ़ सालों से सरकार ग्रैच्युटी और वेतन से जुड़े विभिन्न मुद्दों को नजरअंदाज कर रही है|

क्यों की जा रही है श्रमिक संगठन दवारा देशभर में हड़ताल :

बेस्ट बस के कर्मचारियों का कहना है कि पिछले डेढ़ सालों से सरकार ग्रैच्युटी और वेतन से जुड़े विभिन्न मुद्दों को नजरअंदाज कर रही है| ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) की महासचिव अमरजीत कौर ने सोमवार को कहा, ‘भाजपा सरकार की जनविरोधी और श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ इस हड़ताल में सबसे ज्यादा संख्या में संगठित और असंगठित क्षेत्र के कर्मचारी शामिल होंगे| दूरसंचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, कोयला, इस्पात, बिजली, बैंकिंग, बीमा और परिवहन क्षेत्र के लोगों के इस हड़ताल में शामिल होने की उम्मीद है| इस हड़ताल में किसानों और बैंक कर्मियों के भी शामिल होने की संभावना है| ट्रेड यूनियन कानून 1926 में संशोधन का विरोध करते हुए कहा है कि सरकार कथित पारदर्शिता के नाम पर गलत कर रही है और इससे बंधुआ मजदूरी का खतरा पैदा होगा| ट्रेड यूनियंस ने बड़ी पब्लिक सेक्टर यूनिट्स (PSUs), महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर का निजीकरण करने की सरकार की नीति का विरोध किया है| इसमें एयरपोर्ट, टेलीकॉम, फाइनेंशियल सेक्टर को विशेषतौर पर निशाना बनाना और रेलवे को 100 पर्सेंट फॉरेन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट के लिए खोलना शामिल है|

देशव्यापी हड़ताल होने के कारन कौन -कौन  सी सेवा होगी प्रभावित :

  • बैंककर्मियों की हड़ताल के कारण आज और कल देश भर में बैंकिंग सेवाएं प्रभावित रहेगी, सरकार पर एंटी वर्कर्स पॉलिसी का आरोप लगाकर विरोध के रूप में ये हड़ताल बुलाई है|
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी के शिक्षकों ने लंबित प्रमोशन और यूनिवर्सिटी से जुड़े बड़े निर्णयों में चुने गए प्रतिनिधियों को कथित रूप से शामिल नहीं किए जाने को लेकर दो दिन की हड़ताल बुलाई है|
  • विद्युत् कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने सोमवार को इलेक्ट्रिसिटी अमेंडमेंट बिल 2018 के विरोध में दो दिन की हड़ताल का ऐलान किया है| इस दौरान कहीं कोई कामकाज नहीं होगा|

 

शेयर करें
Vikas das
विकास ने वर्ष 2014 से टीवी रिपोर्ट के रूप में काम करना शुरू किया था। उसके बाद उन्होंने कई समाचार चैनल और समाचार वेबसाइट में काम किया। उसके बाद वर्ष 2016 में विकास ने रोजगार रथ में वरिष्ठ संपादक के रूप में काम करना शुरू किया।