अगले वर्ष से सत्र नियमित होने की संभावना

0
9
अगले वर्ष से सत्र नियमित होने की संभावना
अगले वर्ष से सत्र नियमित होने की संभावना

दरभंगा | लनामिविवि में कुलपति प्रो. एसके ¨सह की अध्यक्षता में सोमवार अधिकारियों की बैठक हुई| इसमें स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षा सहित स्ववित्तपोषित कोर्स की परीक्षा कराने पर चर्चा हुई| बैठक के बारे में जानकारी देते हुए पीआरओ एनके अग्रवाल ने बताया कि 2017-19 सत्र की परीक्षाओं से सत्र नियमित हो जाने की संभावना है| उन्होंने बताया कि 27 सितंबर को राजभवन में होने वाली बैठक की तैयारी की समीक्षा की गई |

  • बीएड महाविद्यालयों को पोस्ट बीएड एप्प के माध्यम से तस्वीर पोस्ट करना है| महाविद्यालय निरीक्षक को कहा गया कि वे सुनिश्चित करें कि इसका अनुपालन सही रूप से हो|  पेंशन अदालत प्रत्येक माह में लगाई जा रही है| जुलाई 2018 में कुल 23 मामले आए थे जिनमें 21 मामलों का निपटारा कर दिया गया| अगस्त में 29 मामले आए थे जिनमें सभी का निपटारा कर दिया गया| सितंबर में शिक्षक दिवस के कारण अदालत नहीं हो सकी| अंगीभूत कॉलेजों 43 हैं जिनमें 29 कॉलेजों का नैक से मूल्यांकन हो चुका है| संबद्ध कॉलेजों में 5 का मूल्यांकन और बीएड कॉलेजों में 3 का मूल्यांकन किया गया है| इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए विवि लेवल पर 4 प्रस्ताव भेजे गए हैं| 21 महाविद्यालय से प्रस्ताव आया है| जिस पर विचार किया जाना है| प्लांटेशन का कार्य लगातार किया जा रहा है| कॉलेजों में भी प्लांटेशन का कार्य करवा रहा है| जिला वन पदाधिकारी को इस संबंध में पत्र दिया गया है। गेस्ट टीचर की बहाली की प्रक्रिया शुरू की गई है| इस दिशा में कार्य किया जा रहा है |

यूनिवर्सिटी मैनजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम 15 दिसंबर तक काम करने लगेगा| इसके लिए कमेटी बनाई गई है| ग्रीवांस रिड्रेसल सेल का गठन कर बैठक की जा रही है| इसमें 9 छात्रों , 23 शिक्षकों के मामले आए थे| जिस पर कार्य किया गया है| कोर्ट केस को कम करने की दिशा में लगातार कार्य हो रहा है| शिक्षकों एवं कर्मचारियों के पद का सृजन भी आवश्यकता के अनुसार करने का कार्य भी किया जा रहा है |

बॉयोमेट्रिक अटेंडेंस बनवाया जा रहा है| रूसा से प्राप्त राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र भेजने की प्रक्रिया की गई है| वेतन सत्यापन के लिए आवेदन भेज गया है| छात्रों की परीक्षा जल्द करवाकर सत्र नियमित करना चाहते हैं| फरवरी या मार्च 19 में दीक्षांत करवाना चाहते हैं| पीआरओ डॉ. एनके अग्रवाल ने बताया कि मौके पर सभी पदाधिकारी मौजूद थे |

शेयर करें
Shivani Jain
शिवानी रोजगार रथ में रिपोर्ट है। शिवानी ने राजनीति, बिजनेस और अन्य न्यूज़ से संबंधित कई न्यूज़ लिखी है। उन्होंने वर्ष 2014 से रिपोर्टिंग शुरू की थी। दो साल के बाद शिवानी ने वर्ष 2016 से रोजगार रथ में काम करना शुरू किया।