घर के बाहर गाड़ियां खड़ी करने पर देना पड़ेगा नगर निगम को पाकिर्ंग टैक्स

0
15
घर के बाहर गाड़ियां खड़ी करने पर देना पड़ेगा नगर निगम को पाकिर्ंग टैक्स

लखनऊ। नगर निगम उन लोगों से पाकिर्ंग टैक्स वसूल करेगा जो घर के बाहर सड़क पर गाड़ियां खड़ी करते हैं। पुणो में इस प्रकार की व्यवस्था लागू है। हाल ही में नगर निगम टीम पुणो से अनुभव लेकर लौटी है। चुनाव बाद नगर निगम प्रशासन इस सम्बंध में प्रस्ताव सदन में रखेगा। सड़क पर गाड़ियां खड़ी करने वालों से शुल्क वसूली का प्रस्ताव यदि शासन में पास हो गया तो नगर निगम को सालाना करीब 48 करोड़ रुपये आमदनी का अनुमान है। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने अपने महापौर कार्यकाल में आय बढ़ाने को लेकर इस सम्बंध में प्रस्ताव दिया था।

एक अनुमान के मुताबिक शहर में करीब 22 लाख वाहन हैं जिनमें से करीब दो लाख वाहन सड़क पर ही खड़े किए जाते हैं। यदि ऐसे वाहनों पर दस पये प्रतिदिन शुल्क लिया जाए तो हर महीने करीब चार करोड़ पये की आय होगी। इसी तरह शहर की मंडियों मंडी समितियों और प्रमुख बाजारों में खड़ी होने वाले ट्रकों, लॉरी व छोटी गाड़ियों से शुल्क वसूलने का प्रस्ताव दिया गया था। अभी नगर निगम को ऐसे वाहनों से कोई शुल्क नहीं मिलता जबकि ये वाहन नगर निगम की सीमा में व्यवसाय करते हैं और नगर निगम की सेवाओं मार्ग प्रकाश सफाई व सड़क का उपयोग करते हैं।

इनके साथ ही विवाह व अन्य समारोहों के दौरान बारात घर व गेस्ट हाउस के आसपास सार्वजनिक सड़क पर गाड़ियां खड़ी की जाती हैं। इनसे यदि शुल्क वसूल किया जाए तो हर साल करीब चार करोड़ रुपये की आमदनी होगी। जबकि सड़क व सार्वजनिक स्थान पर वाहन खड़े करने वालों पर पाकिर्ंग टैक्स लागू करने से नगर निगम को सालाना करीब 48 करोड़ रुपये मिलेंगे।चतुर्थ राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष को अधिनियम में प्रावधान करने के लिए यह प्रस्ताव पूर्व में सौंपा गया था। मगर पूर्व सरकार ने इसे मंजूरी नहीं दी और प्रस्ताव फाइल में ही बंद हो गया।

शहर में सार्वजनिक स्थलों, किसी सडक, सड़कपटरी, फुटपाथ घर, काम्पलेक्स और दुकानों के बाहर रात में निजी अथवा कामर्शियल वाहन खड़े करने पर पाकिर्ंग टैक्स देना होगा। नगर आयुक्त डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी का कहना है कि शहर में पाकिर्ंग की समस्या विकराल होती जा रही है। वहीं अवैध पाकिर्ंग से जाम की समस्या बढ़ रही है। घरों के बाहर सड़क पर गाड़ियां खड़ी होने से सड़कें टूट रही हैं। हाल यह है कि एक-एक घर में कई गाड़ियां हैं। वाहन स्वामी घर के बाहर पाकिर्ंग कर रहे हैं। इस पर अंकुश लगाने के लिए नई व्यवस्था को लागू करने की कार्ययोजना तैयार हो रही है।

शेयर करें
Avatar
शिवानी रोजगार रथ में रिपोर्ट है। शिवानी ने राजनीति, बिजनेस और अन्य न्यूज़ से संबंधित कई न्यूज़ लिखी है। उन्होंने वर्ष 2014 से रिपोर्टिंग शुरू की थी। दो साल के बाद शिवानी ने वर्ष 2016 से रोजगार रथ में काम करना शुरू किया।