पटाखों के लेकर सुप्रीम कोर्ट का अब तक का सबसे बड़ा फैसला, व्यापारियों ने कही ये बात

0
26
पटाखों के लेकर सुप्रीम कोर्ट का अब तक का सबसे बड़ा फैसला, व्यापारियों ने कही ये बात
पटाखों के लेकर सुप्रीम कोर्ट का अब तक का सबसे बड़ा फैसला, व्यापारियों ने कही ये बात

लखनऊ | दीवाली का त्योहार आने वाला है, लेकिन इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय पटाखों पर एक अहम फैसला लिया है| दरअसल सर्वोच्च न्यायालय ने आज मंगलवार को पटाखों के निर्माण, बिक्री अौर अपने पास रखने के संबंध में प्रतिबंध लगाने वाली याचिकाअों पर फैसला लेते हुए कहा है कि देश में पटाखों पर पूरी तरह बैन नहीं लगाया जा सकता है| सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि सुरक्षित और ग्रीन पटाखों का निर्माण और बिक्री पहले की तरह जारी रहेगी |

वहीं लखनऊ में पटाखा व्यापारियों ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत किया है| कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश मानना हर नागरिक का फर्ज है| उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जो भी आदेश मिलेंगे उन्हें हर कीमत पर लागू करवाया जाएगा| नियमों की अवहेलना किसी को बर्दाश्त नहीं होगी |

सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के मुताबिक अब केवल लाइसेंसी विक्रेता ही पटाखों की बिक्री कर सकेंगे और इनकी ऑनलाइन बिक्री पर पूरी तरह रोक रहेगी| सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि इसके पश्चात् भी यदि कोई पटाखे की ऑनलाइन बिक्री करता है तो उसके खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना का केस चलेगा |

तय की टाइमिंग

सर्वोच्च न्यायालय ने पूरे देश के लिए दीवाली पर पटाखे जलाने की टाइम लिमिट तय कर दी है| सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि दीवाली के दिन रात 8 से 10 बजे तक पटाखे फोड़े जाएंगे| वहीं नए साल और क्रिसमस के मौके रात 11:55 से 12:30 बजे तक ही पटाखे फोड़े जा सकते हैं| बता दें कि पिछली बार सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली-एनसीआर में तो पटाखों की बिक्री पर बैन लगा दिया था, लेकिन इस बार पूरे देश में बैन लगाने पर विचार हो रहा है |

शेयर करें
Avatar
मुकेश श्रीवास्तव रोजगार रथ में संपादक के पद पर कार्यरत है। रोजगार रथ में मुकेश खेल जगत से जुडी खबरे लिखते है। वह कई न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम कर चुके है। मुकेश ने अपनी पढाई NIT कॉलेज से पूरी की है। NIT से पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम करना शुरू किया।