जेएनयू की लाइब्रेरी में छात्र ने की आत्महत्या,प्रोफेसर को किया सुसाइड नोट मेल

0
5
जेएनयू की लाइब्रेरी में छात्र ने की आत्महत्या,प्रोफेसर को किया सुसाइड नोट मेल

नई दिल्ली।  जवाहर लाल नेहरू यूनिर्वसटिी (जेएनयू) के एक छात्र ने परिसर में स्थित स्कूल ऑफ लैंग्वेज की लाइब्रेरी के एक कमरे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक का नाम ऋषि जुसुआ थोमस है। वह एमए सेकेंड ईयर के अंग्रेजी भाषा का छात्र था और यूनिर्वसटिी के माही मांडवी हास्टल में रहता था। प्राथमिक जांच में जानकारी मिली है कि वह कुछ समय से बीमार था, जिसका इलाज भी चल रहा था।

खुदकुशी के पूर्व उसने एक सुसाइड नोट अपने एक प्रोफेसर को मेल किया था। डीसीपी देवेंद्र आर्या ने बताया कि वसंतकु ज नॉर्थ थाना पुलिस को दोपहर 12 बजे जेएनयू के ही एक प्रोफेसर ने फोन कर घटना की जानकारी दी थी। सूचना पर थाना पुलिस व क्राइम की टीम ने जेएनयू के स्कूल ऑफ लैंग्वेज पहुंचकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। माही मांडवी हास्टल के वार्डन ने पुलिस को बताया कि वह सुबह विभाग की लाइब्रेरी में गया था। उसी लाइब्रेरी के बेसमेंट में एक कमरा बना है। 12 बजे कुछ छात्रों ने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद पाया।

छात्रों ने जब खिड़की से अंदर झांका तो ऋषि को केबल के जरिए पंखे से लटका पाया। तत्काल दरवाजा तोड़कर छात्र अंदर घुसे और उसे फंदे से उतारकर मामले की सूचना यूनिर्वसटिी के डॉक्टर को दी। जांच के बाद डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। जेएनयू में ही उसका रिश्ते का भाई मैयू भी वर्गेस पढ़ता है। पुलिस इस संबंध में उससे भी पूछताछ कर रही है। घटना की सूचना परिवार को दे दी गई है। उनके आने पर पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

जवाहर लाल नेहरू विविद्यालय (जेएनयू) ने छात्र द्वारा आत्महत्या करने के मामले में दुख जताया है। और कहा कि यह दुखद है, एमए के एक छात्र का विवि परिसर में असमय निधन हुआ है|

शेयर करें
Avatar
ऋषीश पांडे रोजगार रथ में वरिष्ठ संपादक है। वे पहले समाचार प्रभात में संवाददाता का काम भी कर चुके है। ऋषीश पांडे ने इंदौर स्टेट यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता और आधुनिक यूनानी अध्ययन में मास्टर डिग्री की है। संवाददाता के क्षेत्र में उन्हें काफी अच्छा अनुभव है।