SBI ग्राहक ध्यान दें, 31 अक्टूबर से बदल जाएगा खाते से पैसा निकालने का नियम

0
6
SBI ग्राहक ध्यान दें, 31 अक्टूबर से बदल जाएगा खाते से पैसा निकालने का नियम
SBI ग्राहक ध्यान दें, 31 अक्टूबर से बदल जाएगा खाते से पैसा निकालने का नियम

New Delhi | भारत देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक को लेकर एक बहुत बड़ी खबर सामने आई है| दरअसल भारतीय स्टेट बैंक के खातों से पैसा निकालने से संबंधित नियमों में बड़े परिवर्तन करने की बात की जा रही है| भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से किए जा रहे है परिवर्तन 31 अक्टूबर के दिन से लागू हो जाएंगे |

दरअसल अगर आपको भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक हैं तथा आपका वहां पर अकाउंट है तो आपके लिए यह सूचना काफी महत्वपूर्ण है| दरअसल बैंक ने हाल ही में अपने ट्रांजैक्शन के नियमों में बड़ा परिवर्तन किया है| नए नियमों के अनुसार अब आप एक दिन में ज्यादा से ज्यादा 20 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे| भारतीय स्टेट बैंक का यह नियम 31 अक्टूबर के दिन से लागू हो जाएगा |

हालांकि मौजूदा समय में भारतीय स्टेट बैंक के नियमों के अनुसार आप एटीएम से 1 दिन में लगभग 40 हजार रुपए तक निकाल सकते हैं| परंतु भारतीय स्टेट बैंक ने अपने नए नियमों को लेकर अपनी सभी शाखाओं को निर्देश जारी कर दिए हैं| भारतीय स्टेट बैंक ने बताया कि जिन ग्राहकों को एटीएम से 1 दिन में 20 हजार रुपए से अधिक पैसा निकालना है उन्हें ऊंचे वेरिएंट वाला डेबिट कार्ड लाना होगा |

दरअसल ऐसा कार्ड उन ग्राहकों को जारी किया जाता है जिनके खाते में मिनिमम बैलेंस से अधिक होता है| भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से देश भर की ब्रांच में भेजे गए निर्देश में बताया गया है कि बैंकों को एटीएम ट्रांजैक्शन में होने वाली धोखाधड़ी की मिलने वाली शिकायतों को देखते हुए डिजिटल-कैशलेस ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के मकसद से नगदी निकासी की सीमा को घटाने का निर्णय लिया गया है |

पिछले कुछ सालों में देखा गया है कि एटीएम मशीन के आसपास कैमरे लगाकर ग्राहकों का पिन चुरा कर फ्रॉड करने वाले कार्ड का क्‍लोन तैयार कर लेते हैं। दुकानों पर लगे स्‍वाइप मशीन के जरिये भी कुछ लोग कार्ड का क्‍लोन तैयार कर डेबिट-क्रेडिट कार्ड धारकों को चूना लगाया करते हैं| इससे निपटने के लिए भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से ये प्लान बनाया गया है |

शेयर करें
Shivani Jain
शिवानी रोजगार रथ में रिपोर्ट है। शिवानी ने राजनीति, बिजनेस और अन्य न्यूज़ से संबंधित कई न्यूज़ लिखी है। उन्होंने वर्ष 2014 से रिपोर्टिंग शुरू की थी। दो साल के बाद शिवानी ने वर्ष 2016 से रोजगार रथ में काम करना शुरू किया।