कर्नाटक चुनाव संपन्न होते ही बड़े डीजल और पेट्रोल के दाम

0
21
कर्नाटक चुनाव संपन्न होते ही बड़े डीजल और पेट्रोल के दाम

नई दिल्ली| कर्नाटक राज्य में विधानसभा चुनाव खत्म होते ही 2 दिनों के अंदर दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम सरकार ने फिर से बढ़ा दिए हैं| 19 दिन पहले सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए थे, कर्नाटक विधानसभा चुनाव होने की वजह से सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बनाए थे जब कर्नाटक विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं तो सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी कर दी है| 24 अप्रैल के बाद 17 पैसे की अधिकता के साथ पेट्रोल के कीमत बढ़कर 74.80 रुपए प्रति लीटर हो गई है. और 21 पैसे की अधिक डीजल की कीमत 66.14 रुपए प्रति लीटर हो गई है| कोलकाता मुंबई के समय कई बड़े-बड़े शहरों में पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि हो चुकी है|

कर्नाटक राज्य में हुए विधानसभा चुनाव की वजह से 24 अप्रैल के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई वृद्धि नहीं हुई थी, जबकि इंटरनेशनल मार्केट में कच्चा तेल लगभग 3:30 वर्ष के अपने उच्चतम स्तर पर है| और दूसरी ओर इंडियन करेंसी 15 माह के निचले लेवल पर है| सूत्रों के मुताबिक कहा जा रहा है कि इंडियन करेंसी में गिरावट के बाद भी 19 दिनों तक पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई इसलिए नुकसान की भरपाई के लिए पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है|

गुजरात विधानसभा चुनाव में भी यही हुआ था
आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव के समय भी सरकार ने यही किया था गुजरात चुनाव दिसंबर 2017 में संपन्न हुए थे| जैसे ही चुनाव संपन्न हुए उसके बाद से पेट्रोल और डीजल की कीमतें प्रतिदिन बढ़ना चालू हो गई जब विधानसभा चुनाव थे तब यहां प्रतिदिन पेट्रोल और डीजल की कीमत कम होती जा रही थी|