मोदी सरकार देने वाली हैं एक लाख लोगों को नौकरी, 90 हजार महीने की इनकम

0
8
मोदी सरकार देने वाली हैं एक लाख लोगों को नौकरी, 90 हजार महीने की इनकम
मोदी सरकार देने वाली हैं एक लाख लोगों को नौकरी, 90 हजार महीने की इनकम

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर में आयुष्मान योजना लॉन्च कर चुके हैं| इस योजना के तहत तकरीबन 10 करोड़ परिवारों का 5 लाख रुपये सालाना का स्वास्थ्य बीमा कराया जायेगा| साथ ही इस योजना से 1 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा| इस योजना के तहत सरकार जन-धन योजना की तरह ही आयुष्मान मित्र बनाएगी| स्वास्थ्य मित्र ठीक उसी तरह होंगे जैसे जन धन योजना में बैंक मित्र लोगों का खाता खुलवाने के साथ-साथ बैंकिंग ट्रांजैक्शन कराते हैं| आयुष्मान मित्र को जहां 15 हजार रुपए मंथली मिलेंगे, वहीं बड़े प्रोफेशनल्स को 50 हजार से लेकर 90 हजार रुपए तक की सैलरी दी जाएगी |

कौन करेगा नियुक्ति

आयुष्मान भारत योजना को लागू करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी द्वारा यंग प्रोफेशनल्स प्रोग्राम शुरू किया जाना है| इस प्रोग्राम के तहत 32 साल से कम उम्र के लोगों को नियुक्त किया जाएगा |

क्‍यों चाहिए स्‍वाथ्‍य मित्र?

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक, आयुष्‍मान भारत स्‍कीम के तहत सरकार का फोकस गरीब और वंचित तबके के लोगों को इलाज की सुविधा उपलब्‍ध कराने पर है| इसलिए इन लोगों को आसानी से इस स्‍कीम में जोड़ने के लिए सरकार को उन्‍हीं के बीच के आम लोगों की जरूरत होगी, जो लोगों को आयुष्‍मान स्‍कीम के फायदे बता सकें और स्‍कीम से जुड़ने के लिए राजी कर सकें| इसके अलावा लोगों को आसानी से इंश्‍योरेंस का लाभ मिल सके, ये सुनिश्चित करने में भी स्‍वास्‍थ्‍य मित्र मददगार होंगे |

क्या चाहिए होगी क्वालिफिकेशन

इस प्रोग्राम के तहत जिन युवाओं को चुना जाएगा, उनमें निम्न योग्यता होनी चाहिए| जैसे-

>> किसी भी सब्जेक्ट में मास्टर डिग्री या टेक्निकल क्वालिफिकेशन जैसे बीटेक, एमबीए|

>> विभिन्न क्षेत्रों के एक्सपर्ट|

>> वे लोग भी अप्लाई कर सकते हैं, जो एम. फिल हैं|

>> रिसर्च का अनुभव है|

>> उनके पेपर पब्लिश हो चुके हैं या पब्लिक हेल्थ सिस्टम प्रोजेक्ट्स में काम करने का अनुभव हो|

क्‍या है आयुष्‍मान भारत स्‍कीम

इस स्‍कीम की घोषणा बजट 2019 में की गई थी| इस स्‍कीम के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए तक के फ्री हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा दी जाएगी| इसमें लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज कवर होगा| कोई भी व्यक्ति (विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) इलाज से वंचित न रह जाए, इसके लिए स्कीम में फैमिली साइज और उम्र पर कोई सीमा नहीं लगाई गई है |

इस स्कीम में हॉस्पिटलाइजेशन से पहले और बाद के खर्च को भी शामिल किया गया है| हर बार हॉस्पिटलाइजेशन के लिए ट्रांसपोर्टेशन अलाउंस का भी उल्लेख किया गया है, जिसका भुगतान लाभार्थी को किया जाएगा| इलाज देश के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में कैशलेस इलाज कराया जा सकेगा |

शेयर करें
Shivani Jain
शिवानी रोजगार रथ में रिपोर्ट है। शिवानी ने राजनीति, बिजनेस और अन्य न्यूज़ से संबंधित कई न्यूज़ लिखी है। उन्होंने वर्ष 2014 से रिपोर्टिंग शुरू की थी। दो साल के बाद शिवानी ने वर्ष 2016 से रोजगार रथ में काम करना शुरू किया।