हिंदूराव अस्पताल : मिला वेतन, डॉक्टरों की अनिश्चिकालीन हड़ताल खत्म

0
10
हिंदूराव अस्पताल : मिला वेतन, डॉक्टरों की अनिश्चिकालीन हड़ताल खत्म

नई दिल्ली| हिंदूराव अस्पताल के डॉक्टरों ने दूसरे दिन मंगलवार को अनिश्चिकालीन हड़ताल आखिरकार खत्म की। दोपहर को अस्पताल प्रबंधन की ओर से मांगें मानने का लिखित आश्वासन मिलने के बाद डॉक्टर अपने काम पर वापस लौट आए। यह हड़ताल सोमवार से शुरू हुई थी।चौबीस घंटे बाद ही प्रशासन हरकत में आया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री विजय गोयल और उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर अवतार सिंह मौजूद थे। बता दें कि तीन महीने से वेतन न मिलने से नाराज डॉक्टरों ने सोमवार को सड़क पर ही ओपीडी लगाकर मरीजों का ईलाज किया । हालांकि, इसका मरीजों को कोई लाभ नहीं हुआ, क्योंकि अस्पताल के मेडिकल स्टोर से हड़ताली डॉक्टरों द्वारा लिखी गई दवाइयां देने से इन्कार कर दिया।

डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें दो माह का वेतन मंगलवार दोपहर को आ चुका है। जबकि शेष एक माह का वेतन 24 घंटे में आने आश्वासन अस्पताल प्रबंधन ने दिया है। इसके अलावा सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को भी जल्द से जल्द लागू करने का आश्वासन मिला है। डॉक्टरों का कहना है कि वेतन को लेकर उन्हें हर बार समस्या से जूझना पड़ता है। इसलिए उन्होंने नगर निगम और प्रबंधन से दोबारा वेतन न रोके जाने की अपील भी की है।

मरीजों ने ली राहत की सांस:

इस बीच यहां उपचाराधीन मरीजों और उनके रिश्तेदारों ने राहत की सांस ली। इसमें ऐसी मरीजों को ज्यादा परेशानी हो रही थी जिनकी यहां पहले से ही सर्जरी हुई है या फिर होने के लिए भर्ती किया गया है। उनके अधिकांश नैदानिक जांचें पूरी कर ली गई थी। सिर्फ उन्हें डॉक्टरों के हड़ताल खत्म करने का इंतजार था। उम्मीद है बुधवार से ओपीडी सेवाओं समेत अन्य सेवाएं भी संतोषजनक तरीके से कार्य करेंगी।

हरकत में आया प्रशासन:

अस्पताल की चिकि त्सा अधीक्षक डा. नांगिया ने कहा कि हमने वित्त विभाग को डॉक्टरों के वेतन जारी करने की सूची भेजी थी। करीब 11 बजे हमें सूचना मिली की डॉक्टरों की सेलरी रिलीज कर दी गई है। इसके उपरान्त ही डॉक्टरों के फोन पर वेतन आने की जानकारी मिली, जिसके बाद हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया। अपराह्न 1 बजे हड़ताल खत्म होने के बाद अस्पताल के आपातकालीन विभाग में डॉक्टर मरीजों के उपचार के लिए पहुंचे।

शेयर करें
Avatar
ऋषीश पांडे रोजगार रथ में वरिष्ठ संपादक है। वे पहले समाचार प्रभात में संवाददाता का काम भी कर चुके है। ऋषीश पांडे ने इंदौर स्टेट यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता और आधुनिक यूनानी अध्ययन में मास्टर डिग्री की है। संवाददाता के क्षेत्र में उन्हें काफी अच्छा अनुभव है।