कपड़ा क्षेत्र में लघु उद्योगों को बड़े पैमाने पर सहायता उपलब्ध करवाएगी सरकार

0
13
कपड़ा क्षेत्र में लघु उद्योगों को बड़े पैमाने पर सहायता उपलब्ध करवाएगी सरकार

देश के कपड़ा क्षेत्र में काम कर रहे सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) के लिए बड़े पैमाने पर सहायता उपलब्ध कराने के कार्यक्रम की शुरुआत बुधवार को होगी। इसका योजना का मकसद संबंधित पक्षों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा घोषित 100 दिन के कार्यक्रम के तहत प्रोत्साहन उपलब्ध कराना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल दो नवम्बर को सूम, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) को समर्थन और सहायता उपलब्ध कराने के लिए 100 दिनों का कार्यक्रम शुरू किया था।

इसके तहत देश भर में विभिन्न क्षेत्रों में 100 जिलों को चिन्हित किया जाना था। सौ दिनों के इस कार्यक्रम के तहत कपड़ा क्षेत्रों में एमएसएमई के लिए बेहतर तालमेल सृजित करने को लेकर कई कदम उठाए गए हैं। इसमें स्थानीय बैंकों के साथ गठजोड़ कर मुद्रा कर्ज के लिए शिविर आयोजित करना, लाभार्थियों को ‘‘टूल किट’ का वितरण, दस्तकारों और बुनकरों के पंजीकरण तथा पहचान कार्ड का वितरण, गुणवत्ता प्रमाणन तथा सामाजिक सुरक्षा शामिल है।

इन 100 जिलों में 39 जिलों की पहचान कपड़ा क्षेत्र, 12 हथकरघा तथा 19 हस्तशिल्प तथा आठ पावरलूम के लिये की गयी है। एक आधिकारिक बयान के अनुसान एमएसएमई पर केंद्रित सहायता कार्यक्रम से गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश जैसे कपड़ा केंद्रों में मानव निर्मित फाइबर कपड़ा बनाने वाली इकाइयों को गति मिलेगी।