शासन ने दैवेभो कर्मचारियों को स्थायी वेतन देने की घोषणा की

0
317
indino

शासन ने दैवेभो कर्मचारियों को स्थायी वेतन देने की घोषणा की

नए वित्तीय वर्ष के साथ ही सरकारी विभागों को शासन से वेतन के अलावा अन्य मद से बजट की राशि भेज दी जाती है। इस साल विभाग में बजट के मद में परिवर्तन हो जाने से कई के वेतन नहीं बंट पा रहे हैं तो स्टेशनरी व अन्य खर्च के लिए उधारी करना पड़ रहा है। बजट की राशि खाते में आ जाने के बाद भी विभाग उसका उपयोग मद में नहीं होने से कर नहीं पा रहे हैं। मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से जिलें के लगभग 23 लोगों के गंभीर रोगों के उपचार के लिए राशि भेजकर स्वीकृत कर पत्र भेज दिए गए, जिसका बजट विभाग के पास होने के बावजूद राशि उपचार के लिए नहीं मिल पा रही है।

विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि इस बार मदों में किए गए परिवर्तन के चलते अस्पतालों को राशि भेजने के बजाय उन्हें समझाइश व पत्र देकर ही काम चलाया जा रहा है। राशि के मद में नहीं पहुंच पाने के चलते प्रशासन के अधिकारियों को स्टेशनरी तक के लिए परेशान होना पड़ रहा है। कई सामान तक उधारी में क्रय कर लिया, किंतु कई सामग्री अभी भी क्रय नहीं हो पा रही है। अधिकारी मामले को लेकर कोषालय अधिकारियों की मद सही कर राशि भेजने के लिए कह चुके हैं।शासन ने दैवेभी कर्मचारियों को स्थायी कर्मी नाम देकर उन्हें स्थायी का वेतन देने की घोषणा कर दी है।

तीन माह पहले की गई घोषणा व जारी किए गए आदेश के बाद कर्मचारियों को स्थायी करने के आदेश जारी कर दिए गए, किंतु उन्हें मार्च माह में भी पहले की तरह ही दैनिक वेतनभोगी का वेतन ही दिया गया है। कर्मचारियों ने मामले में भूअर्जन शाखा से पूछने मिल पा रहा है। मामले को लेकर अब शासन स्तर तक अपनी बात पहुंचाने के लिए पत्र लिखकर आला अधिकारियों को अवगत कराने की सोच रहे हैं।

शेयर करें
Rajeshwari Tripathi
राजेश्वरी रोजगार रथ में पत्रकार के पद पर कार्यरत है। राजेश्वरी ने जनसंचार में स्नातक की पढाई की है। वह इससे पहले हरिभूमि समाचार पत्र के साथ-साथ अन्य स्थानीय समाचार प्रकाशन में काम किया है। अन्य समाचार पत्रों में काम करने के बाद राजेश्वरी वर्ष 2016 से रोजगार रथ में कार्यरत है।