कई ऐसे कोच जिन्होंने देश को दिये है बेहतरिन खिलाड़ी उन सभी को मिला द्रोणाचार्य अवार्ड

0
165

सोमवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में कई सारे खिलाडियो तथा कोच को खेल रत्न ,दोणाचार्य अवॉर्ड व अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया इस में से एक विराट कोहली के बचपन के कोच भी उनमें शामिल है अवॉर्ड  लेते समय उन्होंने कहा वह अपने मरते दम तक कार्य करेगे तथा  इंडियन टीम को और नये बेस्ट क्रिकेटर प्रदान करेंगे।

राजकुमार शर्मा :- राजकुमार शर्मा ने कहा वह इस अवॉर्ड को लेकर बहुत खुश है और ये उनकी लाइफ का प्रॉउड मूवमेंट है वह धन्यवाद करना चाहते है सरकार का और मंत्रालय को ,भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली मंगलवर को द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए चयनित किये गये रहे बचपन के कोच राजकुमार शर्मा को बधाई दी।
 नागापुरी रमेश :- नागापुरी रमेश एक एथलीट कोच है कल उनको भी दिया गया द्रोणाचार्य अवॉर्ड मिला इसे लेकर वह बहुत खुश हुये और कहा मेरी कई सालों की तपस्या सफल हुई , वह फ़िलहाल चंद के कोच है उन्होंने बताया की वह अपनी परिवार से दूर रहते है कई बार जन्मदिन और वर्षगांठ पर भी अपने परिवार से मिलाने नहीं जा पता हूं मेरे लिये तो खेल ही मेरी दुनिया है। रमेश ने अपनी लाइफ में कई मेडल जीते है ,अब वह चंद और अन्य एथलीटों को कोचिंग दे रहे है ताकि वह अगली बार देश के लिए मेडल ले कर आये।
सागरमल धायल :- सागरमल धायल को द्रोणाचार्य अवार्ड मिला ,धायल को महिला मुक्केबाजी टीम के अच्छे प्रदर्शन के लिये दिया गया है धायल ने देश को कई सारे बेहतरीन मुक्केबाजी दिये है जैसे मैरीकोम, विजेंदर और सरिता। वह पिछले 10 साल से महिला मुक्केबाजी टीम के कोच है तथा उन्होंने कई अवार्ड भी जीते है l

प्रदीप कुमार :- प्रदीप कुमार को तैराकी के लिये द्रोणाचार्य अवार्ड मिला,वह लगभग पिछले 30 साल से कोच है उन्होंने इंडिया को कई सारे नेशनल ,इंटरनेशनल ओलिंपियन तैराका दिये है।

महावीर सिंह :- महावीर सिंह रेसलिंग के वरिष्ठ ओलंपिक कोच है इन्हें रेसलिंग के लिए द्रोणाचार्य अवार्ड मिला ,यह हरियाणा से है तथा इनके घर में लगभग सभी रेसलिंग करते है ,उन्होंने देश को पहली भारतीय महिला पहलवान दी है बबीता कुमारी। जिन्होंने 2012 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता है और 2014 में राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक जीता।

शेयर करें
Mukesh Srivastava
मुकेश श्रीवास्तव रोजगार रथ में संपादक के पद पर कार्यरत है। रोजगार रथ में मुकेश खेल जगत से जुडी खबरे लिखते है। वह कई न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम कर चुके है। मुकेश ने अपनी पढाई NIT कॉलेज से पूरी की है। NIT से पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम करना शुरू किया।