कानपुर इंडियन प्रीमियर लीग के सीजन-10 में फिक्सिंग को लेकर बड़ा खुलासा

0
267
NBT

कानपुर इंडियन प्रीमियर लीग के सीजन-10 में फिक्सिंग को लेकर बड़ा खुलासा

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के सीजन-10 में फिक्सिंग को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इस मामले में गिरफ्त में आए महाराष्ट्र के अंडर-19 खिलाड़ी नयन शाह ने कबूल किया है कि उसके सट्टेबाजों से रिश्ते रहे हैं और वह मैचों के नतीजे प्रभावित करने के लिए पिचों से छेड़छाड़ करवाता था। नयन शाह ने पुलिस को बताया कि सभी आईपीएल मैचों के लिए उसने बड़े सट्टेबाजों से कॉन्ट्रैक्ट लिया था।

उसने बताया, पिच की जानकारी देने के लिए उसने सट्टेबाजों से डेढ़ लाख रुपए लिए थे। नयन के मुताबिक, कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम के स्टाफ रमेश कुमार के साथ उसकी मिली-भगत थी। वह नयन के आदेश के मुताबिक पिच पर पानी डालता था। इसके एवज में उसे 20 हजार रुपए मिलते थे। नयन शाह के मोबाइल से मुंबई के स्टेडियम की पिच की तस्वीरें भी मिलीं हैं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए आईपीएल मैच के बाद पुलिस ने टीम होटल से दो बुकीज को गिरफ्तार किया था। उनके पास से 60 लाख रुपए बरामद हुए थे।

जिसके बाद मैच फिक्सिंग के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ हुआ। इस होटल की 12वीं और 14वीं मंजिल पर टीमें ठहरी थीं, जबकि आईपीएल स्टाफ 17वीं मंजिल पर ठहरा हुआ था। ग्रीन पार्क स्टेडियम का स्टाफ कर्मचारी रमेश कुमार पुलिस कस्टडी में है। गौरतलब है कि बताते चलें कि नयन शाह के मोबाइल में 12 बुकीज के नाम और नंबर मिले हैं, जिनकी धरपकड़ के लिए महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान में छापे मारे जा रहे हैं। जांच में पता चला है कि बंटी खंडेलवाल नाम का व्यक्ति इस रैकेट का सरगना है और वह अजमेर से है। इस रैकेट के तार सीमापार से भी जुड़े होने की बात सामने आई है।

शेयर करें
Shivani Jain
शिवानी रोजगार रथ में रिपोर्ट है। शिवानी ने राजनीति, बिजनेस और अन्य न्यूज़ से संबंधित कई न्यूज़ लिखी है। उन्होंने वर्ष 2014 से रिपोर्टिंग शुरू की थी। दो साल के बाद शिवानी ने वर्ष 2016 से रोजगार रथ में काम करना शुरू किया।