निर्माणाधीन एम्स की ढही चहारदीवारी, चार मजदूर घायल

0
6
निर्माणाधीन एम्स की ढही चहारदीवारी

गोरखपुर। चहारदीवारी के सटे सीवर लाइन के लिए खोदा गया है गहरा गड्ढा जिसमें चल रहा है निर्माण

गोरखपुर। शाम 4.30 बजे के करीब सीवर लाइन का काम चल रहा था की अचानक चहारदीवारी भरभरा कर ढह गयी लगभग 40 मीटर चहारदीवारी इंजीनियरों के अलावा कैंट पुलिस भी पहुंची मौके पर तथा जेसीबी लगवाकर हटवाया जा रहा है मलवा निर्माणाधीन एम्स की चहारदीवारी रविवार की शाम अचानक भरभराकर ढह गयी।

चहारदीवारी के सटे सीवर लाइन का काम मजदूर कर रहे थे। कहा जा रहा है कि चार को मामूली चोटें आयी हैं जबकि इंजीनियर और ठेकेदार का कहना है कि किसी मजदूर को चोट नहीं आयी है। फिलहाल शक के आधार पर मलबा जेसीबी लगवाकर हटवाया जा रहा है यह देखने के लिए कि कहीं कोई मजबूर दबा तो नहीं है। मौके पर जीडीए व नगर निगम के इंजीनियरों के अलावा कैंट पुलिस जमी थी। गोरखपुर-कसया मार्ग पर जीआरडी मेस के ठीक सामने की चहारदीवारी ढह गयी है।

चहारदीवारी के सटे लगभग बीस फीट गहरा व पचीस फीट चौड़ा सीवर लाइन बैठाने के लिए गड्ढा खोदा गया है। सीवर लाइन का काम शाम 4.30 बजे के करीब चल रहा था कि अचानक लगभग चालीस मीटर चहारीवारी भरभराकर ढह गयी और लगभग इतनी ही चहारदीवारी एक ओर झूक गयी है। चार मजदूरों को मामूली चोटें आयी हैं जबकि इंजीनियर रितेश पाण्डेय का कहना है कि कोई मजदूर घायल नहीं हुआ है और इसी तरह की भाषा ठेकेदार सामंत सिंह का भी बोल रहे हैं।

सवाल यह उठता है कि अगर कोई मजदूर दबा नहीं है तो फिर जेसीबी लगवाकर मलवा क्यों हटवाया जाने लगा है? फिलहाल मलवा हटने के बाद सब कुछ साफ हो जाएगा। नंदानगर प्रतिनिधि के अनुसार सीवर लाइन का काम कर रहे कुछ मजदूरों ने बताया कि चार मजदूरों को मामूली चोट आयी है। सीवर लाइन के इंजीनियर रितेश पाण्डेय का कहना है कि चहारदीवारी की नींव बमुश्किल से चार-पांच फीट गहरी है।

सीवर लाइन गहरा खुदा हुआ है। लगता है इसी के चलते चहारदीवारी ढही है। बीच के दिनों में विशेष सचिव स्वास्य जयंत नारिलेकर आये थे तब उन्होंने निर्माण कार्य की गति व अन्य मामलों को लेकर फटकारा भी था। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि चहारदीवारी का काम किस तरह का हुआ है सबने देखा है। ढाई से तीन फीट गड्ढा खोदकर चहारदीवारी खड़ी कर दी गयी है। चहारदीवारी के सटे चौड़ा सीवर लाइन के लिए गड्ढा खोद दिया गया है तो ऐसे में चहारदीवारी का गिरना तय है। मामला गंभीर है और इसकी जांच करायी जाए तो सारा कुछ सामने आ जाएगा।