जल्द ही बेंगलूरू में एक समर्पित जलवायु परिवर्तन प्रयोगशाला स्थापित होगी

0
71
Justdial

जल्द ही बेंगलूरू में एक समर्पित जलवायु परिवर्तन प्रयोगशाला स्थापित होगी

बढता तापमान, असामान्य बारिश और अप्रत्याशित मौसम पिछले कुछ वर्षों के दौरान बेंगलूरू के सदाबहार मौसम का यह बदलता स्वरूप है जिसमें मौसम संबंबधी कुछ भी वैसा नहीं हो जिसके लिए बेंगलूरू की वैश्विक पहचान है। मौसम विभाग विशेषज्ञ भले इस मौसमी बदलाव को कोई वैज्ञानिक नाम दें लेकिन सामान्य लोगों के लिए यह एक प्रकार का झेल रहा है। जलवायु परिवर्तन का प्रभाव अब हर रोज़ की वास्तविकता है जो मौजूदा समय में शहर में अप्रत्याशित तापमान और उमस से महसूस की जा सकती है।

हालांकि बेंगलूरू पर जलवायु परिवर्तन के पड़ने वाले असर के वास्तविक प्रभाव का अध्ययन करने के लिए और प्रकृति की अनियमितताओं से निपटने एवं बेंगलूरू सहित कर्नाटक को बेहतर बनाने के लिए, जल्द ही बेंगलूरू में एक समर्पित जलवायु परिवर्तन प्रयोगशाला स्थापित की जाएगी। शहर के जेपी नगर के पास स्थित पर्यावरण प्रबंधन एवं नीति अनुसंधान संस्थान (ईएमपीआरआई) में इस केन्द्र की स्थापना की जाएगी

जो विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) से मदद के साथ जलवायु परिवर्तन के लिए सामरिक ज्ञान पर राष्ट्रीय मिशन के अंतर्गत काम करेगा। ईएमपीआरआई के सलाहकार एवं प्रमुख ओ के रामदेवी ने मीडिया के एक वर्ग से बात करते कहा कि इस प्रयोगशाला का शुभारंभ अगले से तीन महीनों में हो जाएगा। हमने प्रयोगशाला आरंभ करने के लिए उपकरणों की खरीद की प्रक्रिया शुरु कर दी है।

यह कर्नाटक में जलवायु परिवर्तन के लिए विभिन्न मापदंडों का अध्ययन करने के लिए समर्पित एक विशिष्ट ज्ञान केंद्र होगा और अद्वितीय श्रेणी के उपकरणों से युक्त प्रयोगशाला को 1.5 करोड रुपए की लागत से तैयार किया जाएगा। प्रयोगशाला स्थापना और उपकरणों की खरीद के लिए हाल ही में निविदाएं जारी की जा चुकी हैं। इनमें ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) विश्लेषक, डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोस्कोप और फोटो माइक्रोग्राफी शामिल होगे जो जलवायु परिवर्तन अध्ययन के लिए महत् हैं।

शेयर करें
Rajeshwari Tripathi
राजेश्वरी रोजगार रथ में पत्रकार के पद पर कार्यरत है। राजेश्वरी ने जनसंचार में स्नातक की पढाई की है। वह इससे पहले हरिभूमि समाचार पत्र के साथ-साथ अन्य स्थानीय समाचार प्रकाशन में काम किया है। अन्य समाचार पत्रों में काम करने के बाद राजेश्वरी वर्ष 2016 से रोजगार रथ में कार्यरत है।