कुवैत के महामुकाबले मे फंसे 2500 लोग

0
332
suggest-keywords

कुवैत के महामुकाबले मे फंसे 2500 लोग

पैसा कमाने और आगे बढ़ने केचक्कर  में फंसकर अपना सब कुछदाव पर लगा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला कुवैत के महाबुला टाऊन में देखने को मिला है। पंजाब के फिरोजपुर शहर के रहने वाले बलबीर ने फोन पर बताया कि जालंधर के एक मशहूर ट्रैवल एजैंट ने अक्तूबर 2016 में उससे 1 लाख रुपए लेकर उसे कुवैत में मुशरिफ कपनी में यहां आकर पैसे कमाने की जगह वह फंस गया है।

उसने बताया कि वह जिस कंपनी में काम कर रहा है वहां न तो उसे काम के बदले पैसे मिल रहे हैं और न ही खाने के लिए खाना और पीने के लिए पानी मिल रहा है तथा जो खाना कंपनी देती है वह खाने के लायक नहीं हैं। कंपनी ने उसका पासपोर्ट तक जब्त बाहर जाकर काम कर सकता है। बलबीर सिंह ने बताया कि कंपनी में स्टील फि क्सर, मैसन, कारपेंटर व अन्य कार्य करने वाले और भी कई पंजाबी व देश के दूसरे हिस्सों के लोग फंसे हुए हैं।

बलबीर ने बताया कि केवल वह ही नहीं उसके साथ यहां 2500 लोग और हैं, जिनमें से अधिकतर लोग जालंधर के दैवल एजैंट द्वारा भेजे गए हैं। यह लोग ज़गराओं, नकोदर व अन्य शहरों से आए हुए से 35 किलोमीटर दूर स्थित तक पैदल चल कर गए और मदद कुवैत में फंसे पंजाबियोंने बताया कि जब हमने इस संबंध में जालधर स्थित एजैट से वात की तो उसने कोई मदद नहीं की।

शेयर करें
Vikas das
विकास ने वर्ष 2014 से टीवी रिपोर्ट के रूप में काम करना शुरू किया था। उसके बाद उन्होंने कई समाचार चैनल और समाचार वेबसाइट में काम किया। उसके बाद वर्ष 2016 में विकास ने रोजगार रथ में वरिष्ठ संपादक के रूप में काम करना शुरू किया।