नालंदा के 37वें डीएम के रूप में योगेन्द्र सिंह ने किया पदभार ग्रहण

0
5
नालंदा के 37वें डीएम के रूप में योगेन्द्र सिंह ने किया पदभार ग्रहण

नालंदा के 37वें डीएम के रूप में योगेन्द्र सिंह ने बुधवार को पदभार ग्रहण किया। प्रभारी डीएम सह डीडीसी ने उन्हें पदभार सौंपा। नालंदा का कार्यभार संभालते ही डीएम योगेंद सिंह के कार्य करने के तरीके आम जनता के सामने आ गया है| आज अपने पद को  ग्रहण करने के बाद डीएम ने आईएसओं प्रमाणित बिहारशरीफ अस्पताल का निरीक्षण किया और निरीक्षण करने के बाद अस्पताल में व्याप्त व्यवस्था को न देखकर अस्पताल के प्रमुख सिविलसर्जन ,स्वास्थ्य मैनेजर ,लेखापाल , क्लर्क , व अन्य कर्मियों पर सीधी कार्रवाई की और इन सभी का वेतन बंद कर स्पष्टीकरण थमा दिया है | पदभार ग्रहण करने के बाद डीएम ने पहले यहां के वरीय अधिकारियों के साथ मैथरन बैठक की|

डीएम योगेंद सिंह ने किया परीक्षा केंद्रों का  भी निरिक्षण :

उसके बाद डीएम योगेंद सिंह ने परीक्षा केंद्रों का निरिक्षण किया उनके साथ नालंदा के एसपी सुधीर कुमार पोरिका , बिहार शरीफ नगर निगम के आयुक्त सौरव जोरवाल थे| इस दौरान डीएम ने परीक्षा दे रहे दो छात्रों को  कदाचार के आरोप में सीधे परीक्षा से ही निष्कासित कर दिया और लापरवाही के आरोप में मजिस्ट्रेट व वीक्षक पर करवाई की|इस परीक्षा केंद्र पर दो स्टैटिक मजिस्ट्रेट उस वक्त उपस्थित नहीं पाए गए, जिला पदाधिकारी ने दोनों स्टेटिक मजिस्ट्रेट से शो कॉज करते हुए उन्हें निलंबित करने हेतु कार्रवाई का निर्देश दिया। परीक्षा केंद्र पर उपस्थित अन्य चार स्टैटिक दंडाधिकारी से भी स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया। उन्होंने केंद्र अधीक्षक से भी स्पष्टीकरण मांगा।

नालंदा कॉलेज के उपरांत जिलाधिकारी ने एसएस बालिका उच्च विद्यालय में निरीक्षण किया। वहां पर  रोशनी की उचित व्यवस्था नहीं रहने के कारण जिलाधिकारी ने अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने केंद्र अधीक्षक को अविलंब पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। आरपीएस स्कूल कचहरी रोड के निरीक्षण के क्रम में जिलाधिकारी ने केंद्र अधीक्षक को सभी छात्रों की विधिवत फ्रिस्किंग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक, नगर आयुक्त, सदर अनुमंडल पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

 

शेयर करें
Vikas das
विकास ने वर्ष 2014 से टीवी रिपोर्ट के रूप में काम करना शुरू किया था। उसके बाद उन्होंने कई समाचार चैनल और समाचार वेबसाइट में काम किया। उसके बाद वर्ष 2016 में विकास ने रोजगार रथ में वरिष्ठ संपादक के रूप में काम करना शुरू किया।